मुस्लिम देशों के मंच से बोलीं सुषमा-अल्लाह के 99 नामों में से किसी का भी अर्थ ‘हिंसा’ नहीं

0
15

विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने शुक्रवार को संयुक्त अरब अमीरात में इस्लामिक सहयोग संगठन (ओआईसी) की बैठक को संबोधित करते हुए आतंकवाद का मुद्दा उठाया. उन्होंने कहा कि आतंकवाद दुनिया के लिए बड़ा खतरा है. आतंकवाद लोगों का जीवन बर्बाद कर रहा है और क्षेत्रों को अस्थिर कर रहा है. यह दुनिया को जोखिम में डाल रहा है.


ऋग्वेद का हवाला देते हुए उन्होंने कहा कि भगवान एक हैं और सभी धर्मों का मतलब है शांति. बता दें कि OIC की मीटिंग में भारत को बतौर गेस्ट ऑफ ऑनर न्योता भेजा गया था. OIC के मंच से उन्होंने जोर देकर कहा कि दुनिया आज आतंकवाद की समस्या से त्रस्त है और आतंकी संगठनों की टेरर फंडिंग पर रोक लगनी चाहिए. उन्होंने बगैर किसी देश का नाम लिए पाकिस्तान प्रायोजित. सुषमा ने कहा कि हमें सभी देशों से यह कहना होगा कि वे आतंकवाद को पनाह और समर्थन देना बंद करें और उन्हें आतंकि ठिकानों को नष्ट करना होगा.


Also Read: चीन में बोलीं सुषमा- पाक नहीं ले रहा था कोई एक्शन, तभी करना पड़ा आतंकियों पर हमला


आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई किसी धर्म के खिलाफ नहीं


ओआईसी की बैठक में भारतीय विदेश मंत्री ने कहा कि धर्म को तोड़ मरोड़कर आतंकवाद को हवा दी जा रही है. आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई किसी धर्म के खिलाफ लड़ाई नहीं है. जैसे इस्लाम का मतलब शांति है ठीक वैसे ही अल्लाह के 99 नाम का मतलब कहीं भी हिंसा नहीं है. इसी तरह हर धर्म शांति का पक्षधर है. विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने कहा कि ऑर्गेनाइजेशन ऑफ इस्लामिक को-ऑपरेशन की बैठक में विशिष्ट अतिथि के रूप में आमंत्रित किया जाना भारत के लिए सम्मान की बात है.


भारत में हर धर्म के लोग


स्वराज ने कहा कि भारत में हर धर्म के लोग रहते हैं. भारत में हर धर्म और संस्कृति का सम्मान होता है. यह न्योता भारत के लिए सम्मान है. 2019 खास वर्ष रहा है. इस साल भारत महात्मा गांधी की 150वीं जयंती मना रहा है. मैं महात्मा गांधी की भूमि से हूं. जहां हर प्रार्थना ‘शांति’ के लिए होती है, जो सभी के लिए शांति है.


Also Read: भारत की पाक को दो टूक, खबरदार हमारे पायलट को आंच न आए


उन्होंने कहा कि भारत ने हमेशा बहुलवाद को अंगीकार किया है. ये सबसे पुराने संस्कृत धार्मिक ग्रन्थ “ऋग्वेद” में भी समाहित है. उन्होंने कहा, “एकम सत विप्रा बहुधा वदंति” जिसका मतलब है “भगवान एक है लेकिन व्यक्ति ने इसका कई तरीकों से वर्णन किया है.”


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमेंफेसबुकपर ज्वॉइन करें, आप हमेंट्विटरपर भी फॉलो कर सकते हैं. )

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here