दु:खद है ‘वंदे भारत एक्सप्रेस’ का मजाक उड़ाना, ऐसे लोगों को माफ नहीं किया जा सकता: पीएम मोदी

वाराणसी: पीएम नरेंद्र मोदी ने आज (19 फरवरी 2019) कहा कि दिल्ली से वाराणसी के बीच चल रही देश में निर्मित पहली सेमी हाईस्पीड ट्रेन ‘वन्दे भारत एक्सप्रेस’ का मजाक बेहद दुखद है, और ऐसे लोगों को कभी माफ़ नहीं किया जा सकता है.


प्रधानमंत्री ने कहा कि भारतीय रेल की सूरत और सीरत बदलने वाले अनेक कदम बीते साढे़ 4 वर्ष में उठाए गए और दिल्ली से काशी के बीच चल रही देश में निर्मित पहली सेमी हाई स्पीड ट्रेन वन्दे भारत एक्सप्रेस इसका एक बहुत बडा उदाहरण है. मोदी ने कहा कि इतने दशकों बाद ही सही, भारत को एक विश्वस्तरीय ट्रेन मिली है लेकिन इसका मजाक बनाया जाना ठीक नहीं है और यह दुर्भाग्यपूर्ण है. उन्होंने कहा कि भारत का मजाक उड़ाने की मानसिकता वाले ऐसे लोगों से देश के हर नागरिक को सतर्क रहना आवश्यक है. उन्होंने कहा, ‘हमें वन्दे भारत ट्रेन बनाने वाले इंजीनियरों पर गर्व है. इंजीनियरों और टेक्नीशियनों को अपमानित करना उचित नहीं है. दिन रात देश के लिए काम करने वालों का मजाक उडाना उचित नहीं है. ऐसे लोगों को माफ नहीं किया जा सकता.’


मोदी ने कहा, ‘मैं उनकी मेहनत को प्रणाम करता हूं. नमन करता हूं. आप जैसे इंजीनियर और प्रोफेशनल कल भारत में बुलेट ट्रेन भी बनाएंगे और सफलतापूर्वक चलाएंगे भी. रेलवे के सभी इंजीनियरों और कर्मचारियों तथा इससे जुडे़ एक एक श्रमिक के परिश्रम का परिणाम है कि आज रेल पटरियों को बिछाने का काम हो, दोहरीकरण या बिजलीकरण का काम हो, पहले से दो गुनी रफ्तार से हो रहा है.’ बता दें कि है कि वन्दे भारत एक्सप्रेस को लेकर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी एवं सपा प्रमुख अखिलेश यादव मजाक उड़ाया था.


पीएम ने कहा कि संत रविदास जी के आशीर्वाद से न्यू इंडिया में बेईमानी और भ्रष्ट आचरण का कोई स्थान नहीं. ईमानदारी से जो आगे बढ़ना चाहते हैं, उनके लिए हमारी सरकार कंधे से कंधा मिलाकर खड़ी मिलेगी. हाल में आपने देखा होगा जो ईमानदारी से टैक्स देते हैं, ऐसे करोड़ों मध्यम वर्ग के साथियों को पांच लाख की आय तक कर मुक्त कर दिया गया है. ईमानदारी का सम्मान किया जा रहा है.



उन्होंने कहा, “हमारे नौजवान साथी जो डिजिटल इंडिया के युग में सामाजिक और राजनीतिक व्यवस्था का हिस्सा बन रहे हैं, हम उनके साथ मिलकर वर्तमान स्थिति को बदलने वाले हैं. हमें उन लोगों को पहचानना होगा, जो अपने स्वार्थ और राजनीतिक लाभ के लिए जात-पात का मुद्दा उठाते हैं.”



Also Read: पाक के खिलाफ मोदी सरकार का एक और फैसला, MFN छीनने के बाद बेची जाएगी करोड़ो की शत्रु संपत्ति


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमेंफेसबुकपर ज्वॉइन करें, आप हमेंट्विटरपर भी फॉलो कर सकते हैं. )


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here