India Strikes Pak: मारा गया यूसुफ अजहर, कभी कंधार विमान हाईजैक करके मसूद अजहर को भारत से छुड़वाया था

भारतीय वायु सेना (आईएएफ) ने मंगलवार तड़के पाकिस्तान में घुसकर पुलवामा आतंकवादी हमले का बदला लिया. आईएएफ ने बालाकोट, चकोठी और मुजफ्फराबाद में आतंकियों के प्रशिक्षण कैंपों पर हमले किए. बालाकोट में हुए हमले में जैश-ए-मोहम्मद के सरगना मौलाना मसूद अजहर का करीबी रिश्तेदार अजहर यूसुफ उर्फ उस्ताद गौरी मारा गया है. बालाकोट पाकिस्तान के खैबर पख्तूनख्वा प्रांत में स्थित है जबकि चकोठी और मुजफ्फराबाद पीओके में हैं.


भारतीय विदेश सचिव विजय गोखले ने संवाददाता सम्मेलन में बताया कि बालाकोट में जैश-ए-मोहम्मद के आतंकी शिविर चलने के खुफिया इनपुट्स मिले थे. सूचना यह भी थी कि यहां बड़ी संख्या में आतंकी मौजूद थे. गोखल ने कहा कि पाकिस्तान को आतंकी शिविरों के बारे में कई बार सबूत दिए गए थे लेकिन उसने कोई कार्रवाई नहीं की. उन्होंने बताया कि बालाकोट आतंकी शिविर को जैश सरगना मौलाना मसूद अजहर का करीबी रिश्तेदार (साला) अजहर यूसुफ उर्फ उस्ताद गौरी चला रहा था. इस हमले में वह मारा गया है. अजहर 1999 में भारतीय विमान आईसी 814 के अपहरण में भी शामिल था. अजहर के खिलाफ भारत में अपहरण और हत्या के मामले दर्ज हैं.


यूसुफ कंधार 1999 में भारतीय विमान आईसी 814 के अपहरण में भी. कंधार में भारतीय यात्रियों के बदले ही आतंकी मसूद अजहर को भारत ने छोड़ा था. भारत के विदेश सिचव विजय गोखले ने आज एक प्रेस कॉन्फ्रेंस कर बताया कि भारत ने एक नॉन मिलिटरी ऐक्शन के तहत आतंकियों के ठिकानों को ध्वस्त किया है. उन्होंने बताया कि इस हमले में इस बात का ख्याल रखा गया कि आम नागरिकों को कोई नुकसान नहीं पहुंचे. उन्होंने बताया कि वायुसेना के लड़ाकू विमानों ने घने जंगलों में आतंकी ठिकानों पर एयर स्ट्राइक की. न्यूज एजेंसी रायटर्स को एक वरिष्ठ सरकारी अधिकारी ने बताया कि भारत के इस बड़े एयर स्ट्राइक में 300 आतंकवादी मारे गए हैं.


Also Read: रात जागकर वायुसेना के ऑपरेशन पर नजर बनाए हुए थे PM मोदी, पहले सर्जिकल स्ट्राइक के समय भी किया था ऐसा


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमेंफेसबुकपर ज्वॉइन करें, आप हमेंट्विटरपर भी फॉलो कर सकते हैं. )


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here