आतंकवाद मिटाना है तो बंद करें सभी मदरसे और अल्पसंख्यक तुष्टीकरण: अश्विनी उपाध्याय

जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में गुरुवार को हुए आतंकी हमले की चारों ओर निंदा हो रही है. इस हमले में 42 जवान शहीद हो गए हैं और 45 से अधिक जवान घायल हुए हैं. वहीं आतंकवाद को लेकर बीजेपी नेता अश्विनी उपाध्याय का बड़ा बयान सामने आया है. उन्होंने आतंकवाद के खात्मे को लिए सभी मदरसों और अल्पसंख्यक तुष्टीकरण को बंद करना जरुरी बताया है.


अश्विनी उपाध्याय ने ट्वीट कर लिखा “आतंकवाद बंद होगा- सभी मदरसे बंद करें, 100₹ से बड़े नोट बंद करें, जनसंख्या नियंत्रण लागू करें, अल्पसंख्यक तुष्टिकरण बंद करें, समान नागरिक संहिता लागू करें, बच्चों के लिए समान शिक्षा लागू करें, ₹10K से महंगे समान का कैश लेनदेन बंद करें, 1लाख से महंगी संपत्ति को आधार से लिंक करें”



उपाध्याय यहीं नहीं रुके उन्होंने एक और ट्वीट करके बेहद गंभीर सवाल उठाए. उन्होंने लिखा “अलगाववादियों को पुलिस सुरक्षा क्यों? इनकी 100%संपत्ति कब जब्त होगी? इन्हें आजीवन कारावास देने का कानून कब? चरमपंथियों को पुलिस सुरक्षा क्यों? इनकी 100%संपत्ति कब जब्त होगी? इन्हें आजीवन कारावास देने का कानून कब? अल्पसंख्यक-बहुसंख्यक कबतक चलेगा? हम चीन-इजराइल से कब सीखेंगे?”



बता दें कि जम्मू-कश्मीर के पुलवामा जिले में गुरुवार को जैश-ए-मोहम्मद के एक आतंकवादी ने आत्‍मघाती हमले को अंजाम देते हुए विस्फोटकों से लदे वाहन से सीआरपीएफ जवानों की बस को टक्कर मार दी. इस हमले में 30 जवान शहीद हो गए. इस आत्‍मघाती हमले की जिम्‍मेदारी जैश-ए-मोहम्‍मद ने ली है. गौर करने वाली बात ये है कि इस सीआरपीएफ के काफ‍िले पर आत्‍मघाती हमले को अंजाम देने वाला आतंकवादी पाकिस्‍तान से नहीं है. वह घाटी का ही रहने वाला है.


कौन है आतंकवादी आदिल अहमद डार, जिसने दिया सबसे बड़े आतंकी हमले को अंजाम

इस आतंकी की पहचान पुलवामा के काकापोरा के रहने वाले आदिल अहमद के तौर पर हुई है. पुलिस ने बताया कि आदि‍ल अहमद 2018 में जैश-ए-मोहम्मद में शामिल हुआ था. वह तभी से घाटी में बड़े आतंकी हमले की फिराक में था. सुरक्षाबलों का कहना है कि आदिल को कुछ दिनों पहले एक ऑपरेशन के दौरान घेर भी लिया गया था. लेकिन वह किसी तरह बच निकला था.


Also Read: बसपा के पूर्व सांसद का आरोप, बोले- बहनजी से मिलने तक के लिए देने पड़ते हैं पैसे


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमेंफेसबुकपर ज्वॉइन करें, आप हमेंट्विटरपर भी फॉलो कर सकते हैं. )


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here