अब स्कूलों में पढ़ाया जाएगा विंग कमांडर अभिनंदन की बहादुरी का पाठ

भारतीय वायुसेना के विंग कमांडर अभिनंदन वर्तमान की बहादुरी और उनका जज्बा इन दिनों काफी चर्चा में है. पिछले दिनों उन्होंने रूस निर्मित मिग-21 बाइसन के जरिए पाकिस्तान के एफ-16 (यूएस निर्मित) को मार गिराकर हर किसी को हैरान कर दिया था. अभिनंदन वर्तमान की बहादुरी को सलाम करने के लिए राजस्थान में अब विंग कमांडर की जांबाजी का किस्सा अब बच्चों के पाठ्यक्रम में शामिल करेगा.


इस विषय में अधिक जानकारी देते हुए राजस्थान के शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा ने बताया, ‘हमारी फौजें अपनी जिंदगी कुर्बान कर भी हमें सुरक्षित रखती हैं. हमारे जांबाजों के अदम्य साहस से आने वाली पीढ़ियां प्रेरित हों, इस बात को ध्यान में रखते हुए विंग कमांडर अभिनंदन से जुड़ा किस्सा पाठ्यक्रम में शामिल करने का निर्देश दिया गया है.’


हवाई लड़ाई में पहुंच गए थे पाकिस्तान


बता दें कि मिग-21 बाइसन के पायलट अभिनंदन ने 27 फरवरी को हवाई लड़ाई में पाकिस्तानी वायुसेना के एफ-16 विमान को मार गिराया था. इसके बाद मिग के दुर्घटनाग्रस्त होने के बीच अभिनंदन सुरक्षित विमान से बाहर निकल गए थे. उनका पैराशूट पीओके में गिरा, जिसके तुरंत बाद उन्हें पाकिस्तानी सेना ने पकड़ लिया था. हालांकि, अंतरराष्ट्रीय दबाव के बीच पाकिस्तान को उन्हें छोड़ना पड़ा.


Also Read: आतंकी समुद्र के रास्ते भी कर सकते हैं हमला: नौसेना प्रमुख सुनील लांबा


फिर से कॉकपिट में लौटना चाहते हैं अभिनंदन


60 घंटे पाकिस्तान की हिरासत में रहने के बाद लौटे विंग कमांडर अभिनंदन का जज्बा अब भी पहले की तरह बरकरार है. पाक हिरासत में भी अदम्य साहस का परिचय देने और लड़ाकू विमान को गिराने के चलते देश के हीरो बने अभिनंदन ने फिर से कॉकपिट में लौटने की बात कही है. विंग कमांडर ने एयर फोर्स के सीनियर अधिकारियों से कहा है कि वह यथाशीघ्र कॉकपिट में लौटना चाहते हैं.


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमेंफेसबुकपर ज्वॉइन करें, आप हमेंट्विटरपर भी फॉलो कर सकते हैं. )

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here